व्यभिचार और व्यभिचार (यौन अनैतिकता) के बीच क्या अंतर है?

This page is also available in: English (English)

ध्यान दें: यहाँ यौन अनैतिकता विवाह से पहले बनने वाले शारीरक संबंध के बारे मे है।

व्यभिचार और व्यभिचार (यौन अनैतिकता) में अंतर है। व्यभिचार एक विवाहित व्यक्ति और कानूनन जीवनसाथी के अलावा एक दूसरे साथी के बीच एक स्वैच्छिक संभोग है। व्यभिचार (यौन अनैतिकता) उन लोगों के बीच एक स्वैच्छिक संभोग है जो एक दूसरे से विवाहित नहीं हैं।

व्यभिचार और व्यभिचार (यौन अनैतिकता) दोनों ही ईश्वर के समक्ष पाप हैं “क्या तुम नहीं जानते, कि अन्यायी लोग परमेश्वर के राज्य के वारिस न होंगे? धोखा न खाओ, न वेश्यागामी, न मूर्तिपूजक, न परस्त्रीगामी, न लुच्चे, न पुरूषगामी। न चोर, न लोभी, न पियक्कड़, न गाली देने वाले, न अन्धेर करने वाले परमेश्वर के राज्य के वारिस होंगे” (1 कुरिन्थियों 6:9,10)। पद 9,10  में पाए जाने वाले पापों की सूची में अधिकांश सामान्य पाप शामिल हैं (गलातियों 5:19–21; इफिसियों 5:3–7)। बाइबल बहुत व्यापक दृष्टिकोण प्रस्तुत करती है कि परमेश्वर इन दो यौन पापों को कैसे देखता है:

व्यभिचार (यौन अनैतिकता)

पुराने नियम में, सभी यौन पापों को मूसा की व्यवस्था और यहूदी रिवाज द्वारा मना किया गया था। एक आत्मिक अर्थ में, इब्रानी शब्द पुराने नियम में व्यभिचार (यौन अनैतिकता) अनुवाद किया गया था, मूर्तिपूजा के संदर्भ में भी था, जिसे आत्मिक वेश्या भी कहा जाता है (2 इतिहास 21:10-14; यहेजकेल 16)।

नए नियम में, “व्यभिचार (यौन अनैतिकता)”यूनानी शब्द “पोर्निया” से आया है, जिसमें व्यभिचार और किसी भी तरह की अवैध वासना में लिप्त होना शामिल है, जिसमें समलैंगिकता भी शामिल है। सुसमाचार और पत्रियों में शब्द का उपयोग हमेशा यौन पाप के संदर्भ में होता है, हालांकि, प्रकाशितवाक्य में, यह हमेशा मूर्तिपूजा को संदर्भित करता है  (प्रकाशितवाक्य 2:14, 20; प्रकाशितवाक्य 17: 1-2)।

व्यभिचार

इब्रानी शब्द का अनुवाद “व्यभिचार” का शाब्दिक अर्थ है “वैवाहिक गठबंधन को तोड़ना” एक आत्मिक अर्थ में, पुराने नियम में, यह अक्सर इस्राएल की मूर्तिपूजा को एक स्त्री जो अन्य देवताओं के पीछे “वेश्यावृत्ति”मे गई , के रूप में संदर्भित करता है (निर्गमन 34:15-16; 17:7; यहेजकेल 6:9)।

नए नियम में, “व्यभिचार” का अनुवाद किए गए दो यूनानी शब्द लगभग हमेशा उनके संदर्भों से, वैवाहिक साझेदारों से जुड़े यौन पाप को संदर्भित करने के लिए उपयोग किए जाते हैं, लेकिन प्रकाशितवाक्य में यह मूर्तिपूजा को संदर्भित करता है (प्रकाशितवाक्य 2:20) ।

विभिन्न विषयों पर अधिक जानकारी के लिए हमारे बाइबल उत्तर पृष्ठ देखें।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

This page is also available in: English (English)

You May Also Like

अगर मैं अपने प्रेमी के साथ यौन संबंध रखता हूं तो क्या यह पाप है?

This page is also available in: English (English)जीवनसाथी के बीच प्रेम, आत्मीयता, साझेदारी, एकता और जनन के अनुसरण के रूप में परमेश्वर ने यौन संबंध का निर्माण किया। यीशु ने…
View Post

एक दम्पति अपने बच्चों को परमेश्वर के भय से कैसे बढ़ा सकते है?

Table of Contents आत्मिक शिक्षा की आवश्यकताक्रम और अनुशासन की आवश्यकताबाइबल का एक उदाहरणअंत का संकेत This page is also available in: English (English)बच्चे परमेश्वर से एक महान आशीष हैं।…
View Post