कुछ वादे क्या हैं जो मुझे परमेश्वर के उद्धार का आश्वासन देते हैं?

परमेश्वर के वादों के माध्यम से, एक मसीही को परमेश्वर के उद्धार का आश्वासन दिया जा सकता है। जो खो गया था उसे पुनर्स्थापित करने के लिए मसीह आया था,…

क्या क्रम-विकास को प्राकृतिक प्रक्रियाओं के माध्यम से समझाया जा सकता है?

क्या क्रम-विकास को प्राकृतिक प्रक्रियाओं के माध्यम से समझाया जा सकता है? नास्तिकों का दावा है कि ब्रह्मांड में हर चीज के अस्तित्व को प्राकृतिक प्रक्रियाओं द्वारा समझाया जाना चाहिए।…

क्या परीक्षा पाप के समान है?

क्या परीक्षा पाप के समान है? परीक्षा अपने आप में पाप नहीं माना जाता है। यीशु की परीक्षा हुई (मरकुस 1:13; लूका 4:1-13) परन्तु उसने पाप नहीं किया (इब्रानियों 4:15)।…

कलिसिया में स्त्रियों की क्या भूमिका है?

कलिसिया में स्त्रियों की क्या भूमिका है? कलिसिया में स्त्री हाल के दिनों में अधिक विवादास्पद विषय बन गई हैं। जबकि पुरुष और स्त्री दोनों महत्वपूर्ण तरीकों से प्रभु की…

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए कुछ उपाय क्या हैं?

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए कुछ उपाय क्या हैं? जोसेफ कैंपबेल ने कहा, “एक विवाह उसके लिए एक प्रतिबद्धता है जो आप हैं। वह व्यक्ति वस्तुतः आपका दूसरा आधा है।…

क्या यीशु के लिए एक कमजोर इंसान के बजाय एक शक्तिशाली परमेश्वर के रूप में आना आसान नहीं होता?

क्या यीशु के लिए एक कमजोर इंसान के बजाय एक शक्तिशाली परमेश्वर के रूप में आना आसान नहीं होता? मानवता में छिपी अपनी ईश्वरीयता के साथ, यीशु इस धरती पर…

अन्यजातियों के समय का क्या अर्थ है?

अन्यजातियों के समय का क्या अर्थ है? “वे तलवार के कौर हो जाएंगे, और सब देशों के लोगों में बन्धुए होकर पहुंचाए जाएंगे, और जब तक अन्य जातियों का समय…

क्या दुनिया के सभी लोगों को दुनिया खत्म होने से पहले यीशु के बारे में सुनने को मिलेगा?

क्या दुनिया के सभी लोगों को दुनिया खत्म होने से पहले यीशु के बारे में सुनने को मिलेगा? “और राज्य का यह सुसमाचार सारे जगत में प्रचार किया जाएगा, कि…

पुराने नियम और नए नियम में परमेश्वर की नैतिक व्यवस्था का उद्देश्य क्या है?

पुराने नियम और नए नियम में परमेश्वर की नैतिक व्यवस्था का उद्देश्य क्या है? पुरानी व्यवस्था में, प्रभु ने अपनी नैतिक व्यवस्था को पत्थर की तख्तियों पर लिखा था (व्यवस्थाविवरण…

क्या मसीह अस्तित्व में बनाया गया था (कुलुस्सियों 1:15)?

क्या मसीह अस्तित्व में बनाया गया था (कुलुस्सियों 1:15)? “वह तो अदृश्य परमेश्वर का प्रतिरूप और सारी सृष्टि में पहिलौठा है” (कुलुस्सियों 1:15)। कुलुस्सियों 1:15 को इस तरह से समझा…