क्या बाइबल इत्र के इस्तेमाल के खिलाफ बोलती है?

इत्र के लिए बाइबिल में 27 संदर्भ हैं। बाइबल इत्र के इस्तेमाल के खिलाफ नहीं बोलती है। इसके विपरीत, नीतिवचन 27: 9 कहता है, “जैसे तेल और सुगन्ध से, वैसे…
View Post

परमेश्वर ने वादा किए देश में प्रवेश करने से मूसा को मना किया। क्या परमेश्वर का न्याय उसकी दया से अधिक था?

आइए जाँच करें कि परमेश्वर ने वादा किए गए देश में प्रवेश करने से मूसा को क्यों मना किया? पहला: मूसा ने प्रभु की सीधी आज्ञा की आज्ञा उल्लंघनता की।…
View Post

अगर परमेश्वर प्रेम है, तो वह अच्छे लोगों को बुरा क्यों होने देता है?

परमेश्वर ने मनुष्यों को चुनने की स्वतंत्रता के साथ बनाया- अच्छाई या बुराई करने की स्वतंत्रता (व्यवस्थाविवरण 30:19)। इंसानों ने शैतान को सुनने के लिए चुना (उत्पत्ति 3) और वह…
View Post

क्या यातना स्थल (पर्गटॉरी) बाइबल की शिक्षा है?

बाइबल में शब्द यातना स्थल नहीं पाया गया है। यह एक कैथोलिक शिक्षा है जिसमें एक मसीही की आत्मा को मृत्यु के बाद पापों की शुद्धता के लिए जाना जाता…
View Post

याकूब और एसाव गर्भ में क्यों लड़ रहे थे?

याकूब और एसाव के बारे में बाइबल कहती है, “और लड़के उसके गर्भ में आपस में लिपट के एक दूसरे को मारने लगे: तब उसने कहा, मेरी जो ऐसी ही…
View Post

हम व्यर्थ दोहराने का उपयोग किए बिना और निरंतर प्रार्थना करने के बीच की रेखा कहाँ खींचते हैं?

“निरन्तर प्रार्थना मे लगे रहो” (1 थिस्सलुनीकियों 5:17)। “प्रार्थना करते समय अन्यजातियों की नाईं बक बक न करो; क्योंकि वे समझते हैं कि उनके बहुत बोलने से उन की सुनी…
View Post

लुका 17:36 में यह कहा गया है, “दो जन खेत में होंगे एक ले लिया जाएगा और दूसरा छोड़ा जाएगा,” क्या यीशु गुप्त संग्रहण की बात नहीं कर रहा था?

इस बात का कोई मामूली संकेत नहीं है कि लुका 17:36 की घटना गुप्त है। इस पद में, यीशु नूह के बाढ़ और सदोम (लूका 17: 26-37) के विनाश का…
View Post

क्या मसीहियों को अंतिम समय के लिए भोजन और पानी का संग्रह करना चाहिए?

“बुद्धिमान मनुष्य विपत्ति को आती देख कर छिप जाता है; परन्तु भोले लोग आगे बढ़े चले जाते और हानि उठाते हैं” (नीतिवचन 27:12)। बाढ़, भूकंप, आतंकवाद, बिजली से होने वाले…
View Post

यहूदी मंदिर प्रतीकात्मकता के साथ प्रतिष्ठापित था। क्या आप इसके प्रतीकों को प्रकट कर सकते हैं?

यहूदी मंदिर के प्रतीक हमारी ओर से स्वर्ग के पवित्रस्थान में “और पवित्र स्थान और उस सच्चे तम्बू का सेवक हुआ, जिसे किसी मनुष्य ने नहीं, वरन प्रभु ने खड़ा…
View Post