दूसरा आदम कौन है?

SHARE

By BibleAsk Hindi


दूसरा आदम कौन है?

दूसरे आदम के बारे में, प्रेरित पौलुस ने लिखा, “ऐसा ही लिखा भी है, कि प्रथम मनुष्य, अर्थात आदम, जीवित प्राणी बना और अन्तिम आदम, जीवनदायक आत्मा बना। परन्तु पहिले आत्मिक न था, पर स्वाभाविक था, इस के बाद आत्मिक हुआ। प्रथम मनुष्य धरती से अर्थात मिट्टी का था; दूसरा मनुष्य स्वर्गीय है। जैसा वह मिट्टी का था वैसे ही और मिट्टी के हैं; और जैसा वह स्वर्गीय है, वैसे ही और भी स्वर्गीय हैं। और जैसे हम ने उसका रूप जो मिट्टी का था धारण किया वैसे ही उस स्वर्गीय का रूप भी धारण करेंगे” (1 कुरिन्थियों 15:45-49)।

बाइबल अंतिम आदम की पहचान यीशु मसीह के रूप में करती है (रोमियों 5:14)। आदम, पहला मनुष्य, जो मानव जाति के शीर्ष पर खड़ा है, परमेश्वर द्वारा “भूमि की मिट्टी” से बनाया गया था (उत्प० 2:7)। परन्तु मसीह “दूसरा मनुष्य” आदम की सृष्टि से पहले से ही अस्तित्व में था और बाद में उसने स्वयं को दीन किया और मानवता के साथ अपनी ईश्वरीयता को ढक दिया (गला० 4:4) जब वह मनुष्यों के बीच वास करने आया।

जैसे लोग अपने सांसारिक स्वभाव को पहले मनुष्य, आदम से प्राप्त करते हैं, इसलिए वे अपना नया स्वर्गीय स्वभाव मसीह से प्राप्त करते हैं। पहला आदम उन लोगों का पिता है जिनका अस्थायी अस्तित्व है; दूसरा सबका पिता है, जो उस पर विश्वास करके उसके दूसरे आगमन पर आत्मिक शरीर प्राप्त करेगा और अनन्त जीवन पाएगा (रोमियों 5:15-18; 1 कुरिं 15:51-54)।

आदम एक “जीवित प्राण” बन गया, लेकिन मसीह जीवन देने वाला है। यीशु के पास अपनी सेवकाई के दौरान मरे हुओं को जिलाने की शक्ति थी (यूहन्ना 5:21, 26; 11:25; लूका 7:14, 15; 8:54, 55)। इन पुनरुत्थानों ने साबित कर दिया कि उसके पास अपने दूसरे आगमन पर धर्मी मृतकों को जीवित करने की भी शक्ति है।

आदम के सभी वंशज उसके पतित स्वभाव के वारिस होते हैं। वे कमजोर हैं, नाशमान हैं, उनके जैसे भ्रष्टाचार और मृत्यु के अधीन हैं। परन्तु पुनरुत्थान के समय, संतों की देह बदल दी जाएगी, और नई देह “उसकी [मसीह की] महिमामय देह के समान हो जाएगी” (फिलि० 3:20, 21)। छुटकारा पाने वालों को न केवल उनके आने पर उनके चरित्र को प्रतिबिंबित करना है, बल्कि उनके पुनरुत्थान के बाद से यीशु के समान अमर शरीर धारण करना है (1 कुरिं. 15:51-53)। क्या शानदार विचार है!

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

Leave a Reply

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments