भजन संहिता की पुस्तक को किसने लिखा है?

Total
0
Shares

This answer is also available in: English

भजन संहिता कई लेखकों की प्रेरित रचना है। भजन संग्रह की उत्पत्ति के बारे में सबसे पुराने सुझाव अभिलेख में दिए गए हैं जो भजन संहिता की शुरुआत के दो तिहाई में दिखाई देते हैं। लगभग एक तिहाई भजन में कोई अभिलेख नहीं है और इस प्रकार, पूरी तरह से अनाम (अज्ञात भजन) हैं।

लेखक

लेखकों के नाम हैं: दाऊद, आसाप, कोराह, मूसा, हेमान, एथान, सुलेमान, और यदूतून। ये नाम लेखकों, योगदानकर्ताओं, संकलनकर्ताओं, या संगीतकारों के हैं। बाइबल के छात्रों ने अनुमान लगाया है कि भजनो के लेखकों में अन्य पुराने नियम के आत्मिक  अगुए जैसे कि एज्रा, यशायाह, यिर्मयाह, यहेजकेल और हाग्गै थे। यह संभव है कि एज्रा, नहेमायाह या अन्य शास्त्री वही हैं जो भजनो का संग्रह एकत्र कर चुके हैं।

प्राथमिक लेखक

भजन संहिता की पुस्तक का प्राथमिक लेखक दाऊद है। शास्त्र हमें बताते हैं कि दाऊद एक कवि और संगीतकार दोनों था(1 शमूएल  16:15–23; 2 शमूएल 23: 1; आमोस 6: 5) । पुराने नियम में, 2 शमूएल 22 और 1 इतिहास 16:1-36 में कई उद्धाहरण हैं, जो उसे भजनो के साथ जोड़ते हैं। और नए नियम में, मत्ती में उनके नाम के उपयोग के लिए भी सबूत है। मत्ती 22:43-45; मरकुस 12:36, 37; लुका 20:42-44; प्रेरितों 2:25; 4:25; रोमियों 4:6-8; 11:9,10; इब्रानियों 4:7।

दाऊद का गहरा प्रेम, उल्लेखनीय महानता (2 शमूएल 1:19–27; 3:33,34), उनकी कठिनाइयों और ईश्वर में अटूट विश्वास ने उन्हें सबसे अधिक हार्दिक कविताएँ लिखने के लिए तैयार किया जो ईश्वर के लिए मनुष्य की खोज को दर्शाती हैं। तिहत्तर भजन उनके प्रतिलेखन में वाक्यांश “दाऊद के”  दिखाते हैं। इन्हें दाऊद के संग्रह का नाम दिया गया है।

बाकी

12 भजनो के अभिलेख में, “आसाप के”  का वाक्यांश प्रकट होता है (भजन संहिता 50, 73-83)। आसाप एक लेवी था, जो दाऊद की  गायक-मंडली के अगुओं में से एक था। दाऊद के समान, आसाप एक सिद्ध पुरुष और एक संगीत लेखक था (1 इतिहास 6:39; 2 इतिहास 29:30; नेह 12:55)। यह जोड़ा जाना चाहिए कि गुलामियों की सूची में जो यरूशलेम में पुनःस्थापित किए गए थे, आसाप के बच्चे केवल गायकों का हवाला देते हैं (एज्रा 2:41)।

11 भजनो के अनुवाद में “कोरह के बेटों के लिए” वाक्यांश (भजन संहिता 42, 44-49, 84, 85, 87, 88) दिखाई देता है। कोरह के पुत्र अपने पिता के मूसा के प्रति विद्रोह के कारण उन पर लगाए गए निर्णय से भाग गए (गिनती 16:1-35)। और उनकी संतानें मंदिर की उपासना में अगुवा बनीं (1 इतिहास 6:22, 9:19)। एक भजन (भजन संहिता 88) “कोरा के पुत्रों के लिए” सौंपा गया है, यह भी “इजराइट के हेमान के मसचिल को सौंपा गया है।” हेमान योएल का बेटा और शमूएल का पोता था। वह लेवी गोत्र के कहातियों का था, और मंदिर के संगीत में एक नेता भी था (1 इतिहास 6:33; 15:17; 16:41,42)।

तीन भजन (भजन सहिंता 39, 62, और 77) के शीर्षकों में यदूतून का नाम शामिल है, जो मंदिर के संगीतकारों की एक कंपनी का अगुआ था (1 इतिहास16:41, 42), और शायद मन्दिर संगीत के एक संकलक था। हालाँकि, इन अभिलेख में यदूतून की तुलना में अन्य नाम हैं, और यह संभव है कि तीन भजनो को यदूतून द्वारा लेखित नहीं किया गया था, लेकिन संभावना है कि उनके द्वारा बनाई गई धुनों को गाया गया।

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk  टीम

This answer is also available in: English

Subscribe to our Weekly Updates:

Get our latest answers straight to your inbox when you subscribe here.

You May Also Like

बच्चे का समर्पण क्या है? क्या यह बाइबिल से है?

This answer is also available in: Englishबच्चे परमेश्वर का एक उपहार हैं (भजन संहिता 127: 3)। माता-पिता, दादा दादी (नीतिवचन 17: 6) और कृतज्ञता में विस्तारित परिवार, उनके बच्चों को…
View Answer