कैसे परमेश्वर हमारे दिलों को वापस जीतना चाहता है?

उड़ाऊ पुत्र का दृष्टान्त इस बात का एक आदर्श उदाहरण है कि ईश्वर किस तरह हमारा दिल जीतना चाहता है (लुका 15)। यीशु ने पिता (परमेश्वर) को उसके बेटे की…
View Answer

आदम और हव्वा कैसे परिपूर्ण हो सकते हैं और फिर भी पाप कर सकते हैं?

जवाब में चुनने की स्वतंत्रता निहित है जोकि परमेश्वर ने आदम और हव्वा को दी थी जब उसने उन्हें बनाया था। परमेश्वर ने उन्हें बनाया होता कि वे पाप न…
View Answer

क्या परमेश्वर इतनी बड़ी चट्टान बना सकता है कि वह उसे उठा न सके?

परमेश्वर इतनी बड़ी चट्टान नहीं बनाएंगे कि वह उसे उठा न सके। ईश्वर सर्वशक्तिमान है और उसके पास हर समय और हर तरह से सभी चीजों पर पूरी शक्ति है…
View Answer

क्या कभी झूठ बोलना जायज़ है?

प्राचीन मूर्तिपूजक समाजों में, झूठ बोलने के लिए हमेशा कड़ी सजा दी जाती थी। एथेंस में एक झूठे गवाह पर भारी जुर्माना लगाया गया था। एक व्यक्ति जो इस अपराध…
View Answer

मानव आत्मा (मनुष्य) का मूल्य क्या है?

मानव आत्मा (मनुष्य) का मूल्य ईश्वर द्वारा उनकी सृष्टि और उद्धार पर आधारित है। ईश्वर सृष्टिकर्ता परमेश्वर जीवन का सृष्टिकर्ता और दाता है (कुलुस्सियों 1:16; इब्रानियों 11:3)। इस दुनिया के…
View Answer

क्या हमारी पैतृक नैतिकता साबित नहीं करती है कि ईश्वर का अस्तित्व नहीं है?

प्रश्न: क्या पैतृक नैतिकता आत्मीयता यह साबित नहीं करती है कि ईश्वर का अस्तित्व नहीं है? उत्तर: कुछ लोग दावा करते हैं कि नैतिकता व्यक्ति-निष्ठ या सापेक्ष है। लेकिन जब…
View Answer

पास्कल का दांव क्या है?

पास्कल का दांव एक तर्क है जो गणितज्ञ और भौतिक विज्ञानी ब्लाइस पास्कल द्वारा परमेश्वर के अस्तित्व से व्यवहार करने के लिए लगाया गया है। यहाँ समझाने में मदद करने…
View Answer

मैं आनंद कैसे प्राप्त कर सकता हूं?

खुशी की परिभाषा आनंद को भलाई और संतोष की स्थिति के रूप में परिभाषित किया गया है। लेकिन इस अवस्था को कोई व्यक्ति कैसे प्राप्त कर सकता है? जब परमेश्वर…
View Answer

क्या सार्वभौमिकता की अवधारणा सत्य है?

सार्वभौमिकता का सिद्धांत बाइबिल के अनुसार सही नहीं है। मसीही सार्वभौमिकता यह मसीही धर्मशास्त्र का एक विद्यालय है जो सार्वभौमिक सामंजस्य के सिद्धांत पर बल देता है। इस सिद्धांत में…
View Answer

ईश्वर ने अदन की वाटिका में भले और बुरे के ज्ञान का वृक्ष क्यों लगाया?

ईश्वर ने मानवता की परीक्षा के लिए अदन की वाटिका में भले और बुरे के ज्ञान का वृक्ष लगाया (उत्पत्ति 2:17)। हम, मनुष्यों को जानवरों के विपरीत, चुनाव की स्वतंत्रता…
View Answer