क्या आप मुझे 2 तीमुथियुस 2:15 का स्पष्टीकरण दे सकते हैं?

2 तीमुथियुस 2 सामान्य तौर पर प्रचारकों के परामर्श से भरा अध्याय है। 2 तीमुथियुस 2:15 के लिए एक स्पष्टीकरण देने के लिए, आइए सबसे पहले पद को पढ़ें: “अपने…

लुका 17:34-36 गुप्त संग्रहण का समर्थन नहीं करता है?

“मैं तुम से कहता हूं, उस रात दो मनुष्य एक खाट पर होंगे, एक ले लिया जाएगा, और दूसरा छोड़ दिया जाएगा। दो स्त्रियां एक साथ चक्की पीसती होंगी, एक…

यूहन्ना ने क्यों कहा कि वह एलिय्याह नहीं था (यूहन्ना 1:19-21) जब कि यीशु ने कहा कि वह था (मत्ती 11: 10-14)?

इस सवाल का जवाब: “यूहन्ना ने यह क्यों कहा कि वह एलिय्याह नहीं था जब कि यीशु ने कहा कि वह था?” लूका 1:13-17 में पाया जाता है। यूहन्ना के…

“धर्मी अपने विश्वास के द्वारा जीवित रहेगा” वाक्यांश का क्या अर्थ है?

वाक्यांश “धर्मी अपने विश्वास के द्वारा जीवित रहेगा” सबसे पहले पुराने नियममें हबक्कूक की पुस्तक में दिखाई दिया (अध्याय 2:4)। उस वाक्यांश में, नबी ने पुष्टि की कि ईमानदार, नम्र…

क्या यीशु 1 कुरिन्थियों 15:27-28 के अनुसार ईश्वर के अधीन है?

प्रश्न: “जब सब कुछ उसके आधीन हो जाएगा, तो पुत्र आप भी उसके आधीन हो जाएगा जिस ने सब कुछ उसके आधीन कर दिया; ताकि सब में परमेश्वर ही सब…

परमेश्वर ने आदम और हव्वा से कहा, “क्योंकि जिस दिन तू उसका फल खाए उसी दिन अवश्य मर जाएगा” उस दिन उनकी मृत्यु क्यों नहीं हुई?

परमेश्‍वर ने आदम और हव्वा से कहा, “क्योंकि जिस दिन तू उसका फल खाए उसी दिन अवश्य मर जाएगा” (उत्पत्ति 2:17)। परमेश्वर ने दो मृत्यु की बात की: (1) “पहली”…

क्या यूहन्ना सिखाता है कि मसीही पाप नहीं कर सकते हैं?

यूहन्ना ने लिखा, “जो कोई परमेश्वर से जन्मा है वह पाप नहीं करता; क्योंकि उसका बीज उस में बना रहता है: और वह पाप कर ही नहीं सकता, क्योंकि परमेश्वर…

यूहन्ना 8:8 के अनुसार यीशु ने जमीन पर क्या लिखा?

“और फिर झुककर भूमि पर उंगली से लिखने लगा” (यूहन्ना 8:8)। पद का संदर्भ यह है कि यहूदियों ने व्यभिचार में फंसी स्त्री को पकडा था और यीशु को उस…

यशायाह 2:22 का क्या मतलब है?

यशायाह 2:22 को समझने के लिए, हमें उस संदर्भ को पढ़ना होगा जिसके लिए यह लिखा गया है। “सो तुम मनुष्य से परे रहो जिसकी श्वास उसके नथनों में है,…

“बकरी का बच्चा उसकी माता के दूध में न पकाना” क्या अर्थ है?

“बकरी का बच्चा उसकी माता के दूध में न पकाना” (व्यवस्थाविवरण 14:21)। इस व्यवस्था का दो अन्य संदर्भों में भी उल्लेख है, (निर्गमन 23:19 और निर्गमन 34:26)। इस आज्ञा के…