यूहन्ना क्यों कहता है कि कुछ पाप मृत्यु की ओर लेकर जाते है और अन्य नहीं?

“यदि कोई अपने भाई को ऐसा पाप करते देखे, जिस का फल मृत्यु न हो, तो बिनती करे, और परमेश्वर, उसे, उन के लिये, जिन्हों ने ऐसा पाप किया है…
View Post

बाइबल में खलिहान (थ्रेशिंग फ्लोर) का अर्थ क्या है?

एक खलिहान वह है जहां एक फसल के बाद भूसे को अनाज से अलग किया जाता है। प्राचीन फिलिस्तीन में, अनाज को बाहर निकालने के लिए उसमें से भूसे को…
View Post

रोमियों 11: 1 कहता है कि परमेश्वर अपने लोगों को नहीं त्यागेगा, तो वचन 15 कहता है कि वह त्यागेगा। क्या आप समझा सकते हैं?

“इसलिये मैं कहता हूं, क्या परमेश्वर ने अपनी प्रजा को त्याग दिया? कदापि नहीं; मैं भी तो इस्त्राएली हूं: इब्राहीम के वंश और बिन्यामीन के गोत्र में से हूं। क्योंकि…
View Post

पाँच रोटियों और दो मछलियों के साथ 5000 को खिलाने की कहानी से हम क्या सबक सीख सकते हैं?

पाँच रोटियों और दो मछलियों के साथ 5000 खिलाने की कहानी (मत्ती 14: 13-21; मरकुस 6: 32-44; लूका 9: 10-17; यूहन्‍ना 6: 1-13) कई सबक सिखाती है। यहाँ कुछ हैं:…
View Post

इस पद का क्या अर्थ है, “उनसे मत डरो जो शरीर को घात करते हैं बल्कि आत्मा को घात नहीं कर सकते”

“जो शरीर को घात करते हैं, पर आत्मा को घात नहीं कर सकते, उन से मत डरना; पर उसी से डरो, जो आत्मा और शरीर दोनों को नरक में नाश…
View Post

कसदी कौन थे?

कसदी (अकादियन, काल्दू) शब्द एक प्राचीन यहूदियों से संबंधित लोगों को नामित करता है जो कि कसदी 800 ईसा पूर्व में रहते थे। उन्होंने 625-539 ईसा पूर्व में बाबुल पर…
View Post

पेलेग के दिनों में पृथ्वी कैसे विभाजित हुई थी?

पेलेग शब्द पहली बार उत्पत्ति 10:25 में प्रकट हुआ था “और एबेर के दो पुत्र उत्पन्न हुए, एक का नाम पेलेग इस कारण रखा गया कि उसके दिनों में पृथ्वी…
View Post

क्या पौलुस गलातियों 4: 9-11 में सातवें दिन सब्त का जिक्र कर रहा है?

पौलुस ने लिखा, “पर अब जो तुम ने परमेश्वर को पहचान लिया वरन परमेश्वर ने तुम को पहचाना, तो उन निर्बल और निकम्मी आदि-शिक्षा की बातों की ओर क्यों फिरते…
View Post

मलाकी 4: 5,6 की अंत समय की भविष्यद्वाणी किसको दर्शाती है?

“देखो, यहोवा के उस बड़े और भयानक दिन के आने से पहिले, मैं तुम्हारे पास एलिय्याह नबी को भेजूंगा। और वह माता पिता के मन को उनके पुत्रों की ओर,…
View Post

एलीएजेर ने उसकी जाँघ के नीचे हाथ रखकर एक शपथ क्यों खाई?

“सो इब्राहीम ने अपने उस दास से, जो उसके घर में पुरनिया और उसकी सारी सम्पत्ति पर अधिकारी था, कहा, अपना हाथ मेरी जांघ के नीचे रख: और मुझ से…
View Post