“शुद्ध गर्भाधान” क्या है?

परिभाषा और उत्पति “शुद्ध गर्भाधान” कैथोलिक कलिसिया का एक सिद्धांत है। यह सिखाता है कि मरियम का गर्भाधान पाप के बिना हुआ था। कैथोलिक कलिसिया का मानना ​​है कि ईश्वर…
View Answer

कैथोलिक कलिसिया धार्मिक स्वतंत्रता पर कहाँ खड़ी है?

धार्मिक स्वतंत्रता के बारे में, बाइबल बताती है, “जहाँ प्रभु की आत्मा है, वहाँ स्वतंत्रता है” (2 कुरिन्थियों 3:20)। हमारे संस्थापक पिता मनुष्य की धार्मिक स्वतंत्रता में विश्वास करते थे:…
View Answer

मरियम का सदैव कुँवारीपन क्या है?

मरियम, यीशु की मां, एक अनुसरण करने वाली और शुद्ध स्त्री थीं। परमेश्वर ने उसे अपने बेटे की माँ के रूप में चुना – दुनिया का उद्धारकर्ता (लुका 1: 28-35)…
View Answer

क्या मसीहीयों को लेंट (चालीस दिन का उपवास) मानना चाहिए?

लेंट को 4 वीं शताब्दी में 46 दिनों के उपवास और आत्मत्याग (40 दिन, रविवार की गिनती नहीं) की अवधि के रूप में स्थापित किया गया था। मत्ती, मरकुस और…
View Answer

बाइबल पादरियों और ब्रह्मचर्य के बारे में क्या सिखाती है?

बाइबल कहीं भी याजकों के लिए या कलीसिया की अगुवाई में सेवा करनेवालों के लिए ब्रह्मचर्य की आवश्यकता नहीं रखती है। बाइबल स्पष्ट रूप से सिखाती है कि प्राचीनों, पादरियों,…
View Answer

पाम संडे का क्या अर्थ है?

पाम संडे उनके पुनरुत्थान से एक सप्ताह पहले येरुशलेम में यीशु के विजयी प्रवेश की याद दिलाता है (मत्ती 21: 1-11)। पाम संडे दुनिया को बचाने के लिए धरती पर…
View Answer

क्या विभिन्न धर्मों को एकता और अनेकवाद पर ध्यान केंद्रित नहीं करना चाहिए?

विभिन्न विश्व धर्मों में एकता और अनेकवाद के बीच एक प्रवृत्ति है। यह प्रवृत्ति इस बात की वकालत करती है कि सभी धार्मिक समान मूल्य के हैं। अनेकवाद के लिए,…
View Answer

क्या हमें पवित्रशास्त्र के साथ बिशपों की अचूक और समान भार के रूप में दक्षता को स्वीकार नहीं करना चाहिए?

बाइबल केवल एक अचूक मार्गदर्शिका की बात करती है जिसे परमेश्वर ने अपनी कलिसिया के लिए छोड़ा है। यह परमेश्वर का लिखित वचन है, न कि एक अचूक मानव दुराचारी…
View Answer

क्या बाइबल सभी विश्वासियों की याजकवाद सिखाती है?

बाइबल सभी विश्वासियों की याजकवाद सिखाती है “तुम भी आप जीवते पत्थरों की नाईं आत्मिक घर बनते जाते हो, जिस से याजकों का पवित्र समाज बन कर, ऐसे आत्मिक बलिदान…
View Answer

यहूदा का सुसमाचार क्या है?

यहूदा का सुसमाचार एक रहस्यमय सुसमाचार है। विद्वानों का मानना ​​है कि यह दूसरी शताब्दी में ज्ञानी मसीहीयों द्वारा लिखा गया था। एरिजोना विश्वविद्यालय के भौतिकी केंद्र के कार्बन-डेटिंग विशेषज्ञ…
View Answer