ईश्वर के साथ मनुष्य का सामंजस्य कैसे हुआ?

इस शब्द में सामंजस्य (यूनानी  कटाल्लास्सो) का अर्थ है “विनिमय करने के लिए” और इसलिए एक अमित्र पक्ष के संबंध को एक शांतिपूर्ण रिश्ते में बदलने के लिए। बाइबल बताती…
View Post

यीशु ने जागते रहो, और प्रार्थना करते रहो शब्द का सही अर्थ क्या है?

यीशु ने दस कुँवारियों के दृष्टांत में कहा कि सभी जब आत्मिक रूप से जाग्रत होने (मत्ती 25:5) के बजाय, दूल्हा जब आएगा तो सभी सो रहे होंगे। इसलिए, वह…
View Post

हमें एक उद्धारक की आवश्यकता क्यों है?

हमें एक उद्धारक की आवश्यकता है क्योंकि हमने “धार्मिकता की व्यवस्था” को तोड़ा है (रोमियों 9:31)। और उसकी वजह से हमें मृत्यु की सजा दी गई “पाप की मजदूरी मृत्यु…
View Post

गिदोन ने केवल 300 सैनिकों के साथ युद्ध कैसे जीता?

केवल 300 सैनिकों के साथ प्रभु ने इस्राएल को जीत कैसे दिलाई की यह कहानी न्यायियों की पुस्तक के अध्याय 7 में है। परमेश्वर ने गिदोन से कहा कि वह…
View Post

हम परमेश्वर के लिए अपने पहले प्यार को कैसे पुनर्जीवित करते हैं?

“पर मुझे तेरे विरूद्ध यह कहना है कि तू ने अपना पहिला सा प्रेम छोड़ दिया है” (प्रकाशितवाक्य 2: 4)। आत्मा कहता है, “सो चेत कर, कि तू कहां से…
View Post

क्या राजा सुलैमान को बचाया जाएगा?

कुछ लोग सवाल पूछते हैं: क्या राजा सुलैमान बचाया जाएगा? इसके बारे में ये आश्चर्य की बात है क्योंकि बाइबल बताती है कि राजा सुलैमान ने 700 पत्नियों और 300…
View Post

दाऊद ने कैसे विशाल गोलियत पर विजय पाई?

कहानी तब शुरू हुई जब दाऊद ने गोलियत को इस्राएल की सेनाओं को चुनौती देते देखा। और, दाऊद ने कहा, “तब दाऊद ने उन पुरूषों से जो उसके आस पास…
View Post

अक्षम्य पाप से यीशु का क्या मतलब था?

अक्षम्य पाप के बारे में, बाइबल कहती है: “क्योंकि सच्चाई की पहिचान प्राप्त करने के बाद यदि हम जान बूझ कर पाप करते रहें, तो पापों के लिये फिर कोई…
View Post

क्या फिर से जन्मा मसीही जो पिछड़ गया हो, अभी भी बचाया जाएगा?

यदि कोई फिर से जन्मा मसीही पिछड़ जाता है और अपने पाप को स्वीकार और पश्चाताप नहीं करता है, तो उसे विश्वासयोग्य लोगों में नहीं गिना जाएगा। निरंतर उद्धार का…
View Post

बाइबल का क्या अर्थ है, जब यह कहती है, मन फिराव के योग्य काम करो?

“परन्तु पहिले दमिश्क के, फिर यरूशलेम के रहने वालों को, तब यहूदिया के सारे देश में और अन्यजातियों को समझाता रहा, कि मन फिराओ और परमेश्वर की ओर फिर कर…
View Post