सहस्राब्दी (हजार वर्ष) के दौरान बचाए हुए स्वर्ग में या पृथ्वी पर होंगे?

बचाया हुआ पहले स्वर्ग में जाएंगे, और फिर वे सहस्राब्दी के बाद नये येरूशलेम में मसीह के साथ पृथ्वी पर आएंगे। यीशु ने वादा किया, “तुम्हारा मन व्याकुल न हो, तुम परमेश्वर पर विश्वास रखते हो मुझ पर भी विश्वास रखो। मेरे पिता के घर में बहुत से रहने के स्थान हैं, यदि न होते, तो मैं तुम से कह देता क्योंकि मैं तुम्हारे लिये जगह तैयार करने जाता हूं। और यदि मैं जाकर तुम्हारे लिये जगह तैयार करूं, तो फिर आकर तुम्हें अपने यहां ले जाऊंगा, कि जहां मैं रहूं वहां तुम भी रहो” (यूहन्ना 14: 1-3)।

यीशु हमें यह बताने के लिए बहुत प्यार करते हैं कि यह कैसे होगा। “क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा; उस समय ललकार, और प्रधान दूत का शब्द सुनाई देगा, और परमेश्वर की तुरही फूंकी जाएगी, और जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे। तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे, कि हवा में प्रभु से मिलें, और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे” (1 थिस्सलुनीकियों 4: 16, 17)।

सहस्राब्दी की शुरुआत में बचाए हुए स्वर्ग में क्यों जाएंगे? बाइबल हमें इसका जवाब देती है, “फिर मैं ने सिंहासन देखे, और उन पर लोग बैठ गए, और उन को न्याय करने का अधिकार दिया गया; और उन की आत्माओं को भी देखा, जिन के सिर यीशु की गवाही देने और परमेश्वर के वचन के कारण काटे गए थे; और जिन्हों ने न उस पशु की, और न उस की मूरत की पूजा की थी, और न उस की छाप अपने माथे और हाथों पर ली थी; वे जीवित हो कर मसीह के साथ हजार वर्ष तक राज्य करते रहे” (प्रकाशितवाक्य 20:4)। सभी युग के बचाए हुओं को सहस्राब्दी के दौरान परमेश्वर का न्याय को देखने का मौका मिलेगा। वे इस समय के दौरान दुष्टों के स्वर्गीय दर्जों की जांच करेंगे और दुष्टों पर ईश्वर का न्याय देखने से पहले प्रभु वास्तव में सहस्राब्दी के अंत में आग के साथ बुरे कर्ताओं को नष्ट कर देंगे।

धर्मियों के पुनरुत्थान पर उनमें से कुछ को आश्चर्य हो सकता है कि उनके प्रियजन स्वर्ग में क्यों नहीं हैं। दूसरों को आश्चर्य हो सकता है कि जिन लोगों को लगा कि उन्हें स्वर्ग में नहीं होना चाहिए उनमें से कुछ वास्तव में क्यों हैं। जांच की यह अवधि धर्मी को उनके सभी सवालों के जवाब खोजने की अनुमति देगी और इस प्रकार सभी संदेह न्याय दंड से पहले परमेश्वर के न्याय के बारे में मिटा दिए जाएंगे (दानिय्येल 7: 9, 10; 1 कुरिन्थियों 6: 2, 3)।

1,000 वर्षों के करीब, यीशु स्वर्ग से संतों और नए येरूशलेम (प्रकाशितवाक्य 21, 2, 3; जकर्याह 14: 1, 4, 5, 10) के साथ स्वर्ग से नीचे आएगा। फिर, परमेश्वर दुष्टों को फिर से जीवित करेगा (प्रकाशितवाक्य 20:5,7,8), इस प्रकार शैतान को उसके बंधनों से मुक्त किया जाएगा और वह अपने अनुयायियों के साथ पवित्र शहर पर हमला करने का प्रयास करेगा। लेकिन परमेश्वर आग को उनको भस्म करने के लिए भेज देंगे और पृथ्वी को सभी पापों से शुद्ध करेंगे (प्रकाशितवाक्य 20: 9, 10; 21: 8)। उसके बाद, परमेश्वर एक नई पृथ्वी बनाएंगे जहां संत हमेशा के लिए शांति से रहेंगे (प्रकाशितवाक्य 21: 3-5)।

विभिन्न विषयों पर अधिक जानकारी के लिए हमारे बाइबल उत्तर पृष्ठ देखें।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

More answers: