मत्ती 24:29 में आकाश की शक्तियों का हिलाना क्या दर्शाता है?

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी) Español (स्पेनिश)

“उन दिनों के क्लेश के बाद तुरन्त सूर्य अन्धियारा हो जाएगा, और चान्द का प्रकाश जाता रहेगा, और तारे आकाश से गिर पड़ेंगे और आकाश की शक्तियां हिलाई जाएंगी”(मत्ती 24:29)।

“आकाश की शक्तियां” का हिलाना पद के पहले भाग में वर्णित संकेतों को सन्दर्भित नहीं करता है, लेकिन भविष्य में एक समय के लिए जब स्वर्गीय अंगों को उनके स्थानों से बाहर निकाल दिया जाएगा …परमेश्वर के बडे शब्द से हिलाया गया । वायुमंडलीय आकाश और पृथ्वी की सतह मूलभूत परिवर्तनों से गुजरेंगे। यह तब होगा जब परमेश्वर के बडे शब्द से सातवी विपति के शुरू होने में “इस पृथ्वी को भी” हिलायेंगी।

” और सातवें ने अपना कटोरा हवा पर उंडेल दिया, और मंदिर के सिंहासन से यह बड़ा शब्द हुआ, कि हो चुका। फिर बिजलियां, और शब्द, और गर्जन हुए, और एक ऐसा बड़ा भुइंडोल हुआ, कि जब से मनुष्य की उत्पत्ति पृथ्वी पर हुई, तब से ऐसा बड़ा भुइंडोल कभी न हुआ था। और उस बड़े नगर के तीन टुकड़े हो गए, और जाति जाति के नगर गिर पड़े, और बड़ा बाबुल का स्मरण परमेश्वर के यहां हुआ, कि वह अपने क्रोध की जलजलाहट की मदिरा उसे पिलाए। और हर एक टापू अपनी जगह से टल गया; और पहाड़ों का पता न लगा।”(प्रकाशितवाक्य 16:17-20; यशायाह 34: 4; प्रकाशितवाक्य 6:14)।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि सूर्य, चाँद, और तारों में संकेत निम्नानुसार पूरे हुए थे:

सूर्य: 19 मई, 1780 को, यहां सूर्य का अंधेरा हुआ था। इसे महान “अंधेरे दिन” के रूप में जाना जाता था। यह सूर्य, चाँद और तारों में से पहला संकेत था जो हमारे परमेश्वर की वापसी की पुष्टि करता था।

चाँद: 19 मई, 1780 की रात को, चाँद की रोशनी अप्रत्यक्ष हो गई थी, यहां तक जैसा ​​कि सूर्य के दिन के समय के दौरान भी हुआ था।

तारे: 13 नवंबर 1833 को, यह निस्संदेह इतिहास में सबसे बड़ा उल्का बौछार (तारों का गिरना) थी।

1780 और 1833 की ये दो घटनाएं, यीशु के पूर्वानुमानों को पूरी तरह से पूरा करती हैं, क्योंकि वे निर्दिष्ट समय पर आए थे। वे केवल ऐसे ही नहीं हुए थे, बल्कि विशिष्टताओं को पूरा करते थे।

विभिन्न विषयों पर अधिक जानकारी के लिए हमारे बाइबल उत्तर पृष्ठ देखें।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी) Español (स्पेनिश)

More answers: