बाइबिल में इंद्रधनुष का क्या अर्थ है?

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी) മലയാളം (मलयालम)

बाइबिल में इंद्रधनुष का क्या अर्थ है?

इंद्रधनुष बाइबिल में परमेश्वर की वाचा के लिए स्थिर है। बाढ़ के बाद, परमेश्वर ने वादा किया कि पानी फिर से दुनिया को नष्ट नहीं करेगा और उसने मनुष्यों को आश्वस्त करने के लिए अपने इंद्रधनुष का संकेत दिया। “तब मेरी जो वाचा तुम्हारे और सब जीवित शरीरधारी प्राणियों के साथ बान्धी है; उसको मैं स्मरण करूंगा, तब ऐसा जलप्रलय फिर न होगा जिस से सब प्राणियों का विनाश हो। बादल में जो धनुष होगा मैं उसे देख के यह सदा की वाचा स्मरण करूंगा जो परमेश्वर के और पृथ्वी पर के सब जीवित शरीरधारी प्राणियों के बीच बन्धी है” (उत्पत्ति 9:15-16)।

मेघधनुष स्वर्ग में परमेश्वर के सिंहासन को घेरे हुए है (प्रका०वा० 4:3)। लेकिन पृथ्वी पर यह गेंद के आकार की बारिश की बूंदों के माध्यम से सूर्य के प्रकाश के अपवर्तन और परावर्तन से उत्पन्न होता है, जिस पर किरणें पड़ती हैं। चूंकि बाढ़ के बाद पृथ्वी की जलवायु की स्थिति पूरी तरह से अलग होगी, और दुनिया के अधिकांश हिस्सों में बारिश ने मिट्टी को नम करने के लिए पूर्व ओस की जगह ले ली, हर बार बारिश शुरू होने पर पुरुषों के डर को शांत करने के लिए कुछ जरूरी था। . यह परमेश्वर के उस वादे का एक उपयुक्त प्रतीक था कि वह फिर कभी बाढ़ से पृथ्वी को नष्ट नहीं करेगा।

आत्मिक मन इस प्राकृतिक घटना को देख सकता है, परमेश्वर के स्वयं के प्रकाशन (रोमियों 1:20)। इस प्रकार, इंद्रधनुष विश्वासी के लिए इस बात का प्रमाण है कि बारिश आशीर्वाद देगी न कि सार्वभौमिक विनाश।

परमेश्वर और नूह के बीच की इस वाचा ने इस पृथ्वी पर अब तक की सबसे बड़ी तबाही से संबंधित घटनाओं का निष्कर्ष निकाला। एक बार सुंदर और परिपूर्ण पृथ्वी, बाढ़ के बाद पूरी तरह से उजाड़ हो गई। मनुष्य ने पाप में जीने के परिणाम देखे थे। और अपवित्र संसारों ने उस भयानक अंत को देखा था जिसका मनुष्य शैतान के मार्गों पर चलने पर आता है।

अब एक नई शुरुआत होनी थी। लेकिन जलप्रलय-विरोधी मानव परिवार के केवल वफादार और आज्ञाकारी लोग ही जलप्रलय से बच पाए थे। अब आशा है कि ईश्वर की कृपा और उसकी शक्ति से उनके वंशजों का बेहतर भविष्य हो सकता है।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी) മലയാളം (मलयालम)

More answers: