बाइबल की पहली पाँच पुस्तकें किसने लिखी हैं?

This page is also available in: English (English)

बाइबल में पहली पाँच पुस्तकों या पेन्टट्यूक के लिए मूसा का संदर्भ शामिल हैं:

पहला: मूसा ने परमेश्वर के व्यवस्था को कैसे लिखा, इसके कई संदर्भ हैं।

“मूसा ने यहोवा के सब वचन लिख दिए” (निर्गमन 24:4)।

“यहोवा ने मूसा से कहा, ये वचन लिख ले…’ (निर्गमन 34:27)।

“मूसा ने यहोवा से आज्ञा पाकर उनके कूच उनके पड़ावों के अनुसार लिख दिए; और वे ये हैं” (गिनती 33:2)।

“फिर मूसा ने यही व्यवस्था लिखकर लेवीय याजकों को…” (व्यवस्थाविवरण 31:9)।

दूसरा: पुराने नियम में बाइबल के लेखकों ने मूसा को पेन्टट्यूक ( मूसा द्वारा लिखी गई 5 पुस्तकें) लिखने के साथ-साथ तोराह या “व्यवस्था” के रूप में भी जाना जाता है।

“उसी स्थान पर यहोशू ने इस्राएलियों के साम्हने उन पत्थरों के ऊपर मूसा की व्यवस्था, जो उसने लिखी थी, उसकी नकल कराई” (यहोशू 8:32)।

“… तब हिल्किय्याह याजक को मूसा के द्वारा दी हुई यहोवा की व्यवस्था की पुस्तक मिली” (2 इतिहास 34:14)। इसके अलावा (एज्रा 3:2; 6:18; नहेमायाह 13:1; मलाकी 4:4)।

तीसरा: नए नियम के लेखकों ने भी इस बात की पुष्टि की कि मूसा ने पेन्टट्यूक लिखी थी।

“इसलिये कि व्यवस्था तो मूसा के द्वारा दी गई” (यूहन्ना 1:17)।

“तब उस ने मूसा से और सब भविष्यद्वक्ताओं से आरम्भ करके सारे पवित्र शास्त्रों में से, अपने विषय में की बातों का अर्थ, उन्हें समझा दिया” (लूका 24:27)।

“क्योंकि पुराने समय से नगर नगर मूसा की व्यवस्था के प्रचार करने वाले होते चले आए है, और वह हर सब्त के दिन अराधनालय में पढ़ी जाती है” (प्रेरितों के काम 15:21)।

“क्योंकि मूसा ने यह लिखा है, कि जो मनुष्य उस धामिर्कता पर जो व्यवस्था से है, चलता है, वह इसी कारण जीवित रहेगा” (रोमियों 10:5)।

“और आज तक जब कभी मूसा की पुस्तक पढ़ी जाती है, तो उन के हृदय पर परदा पड़ा रहता है” (2 कुरिन्थियों 3:15)।

“इब्राहीम ने उस से कहा, उन के पास तो मूसा और भविष्यद्वक्ताओं की पुस्तकें हैं, वे उन की सुनें” (लूका 16:29)।

“फिलेप्पुस ने नतनएल से मिलकर उस से कहा, कि जिस का वर्णन मूसा ने व्यवस्था में और भविष्यद्वक्ताओं ने किया है, वह हम को मिल गया; वह यूसुफ का पुत्र, यीशु नासरी है।” (यूहन्ना 1:45 जोर दिया गया)। यह भी ध्यान दें कि नए नियम के सदूकियों ने मूसा को लेखक माना है: “कि हे गुरू, मूसा ने हमारे लिये लिखा है, कि यदि किसी का भाई बिना सन्तान मर जाए, और उस की पत्नी रह जाए, तो उसका भाई उस की पत्नी को ब्याह ले और अपने भाई के लिये वंश उत्पन्न करे: सात भाई थे” (मरकुस 12:19)।

चौथा: यीशु ने खुद इस बात की पुष्टि की है कि “व्यवस्था” मूसा से आयी है।

“क्योंकि मूसा ने कहा है कि अपने पिता और अपनी माता का आदर कर; ओर जो कोई पिता वा माता को बुरा कहे, वह अवश्य मार डाला जाए” (मरकुस 7:10)।

“क्योंकि यदि तुम मूसा की प्रतीति करते, तो मेरी भी प्रतीति करते, इसलिये कि उस ने मेरे विषय में लिखा है। परन्तु यदि तुम उस की लिखी हुई बातों की प्रतीति नहीं करते, तो मेरी बातों की क्योंकर प्रतीति करोगे” (यूहन्ना 5:46-47)।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

This page is also available in: English (English)

You May Also Like

आज हम पर अच्छे सामरी का दृष्टांत कैसे लागू होता है?

This page is also available in: English (English)अच्छे सामरी का दृष्टांत लूका के सुसमाचार में पाया जा सकता है: “यीशु ने उत्तर दिया; कि एक मनुष्य यरूशलेम से यरीहो को…
View Post

बाइबल हमें राजा हिजकिय्याह के बारे में क्या बताती है?

Table of Contents प्रश्न: बाइबल हमें राजा हिजकिय्याह की सफलता और असफलता के बारे में क्या बताती है?हिजकिय्याह के सुधारअसीरियन आक्रमणपरमेश्वर का बचावहिजकिय्याह की बीमारी और चंगाईहिजकिय्याह का पाप This…
View Post