पिरगमुन शब्द का अर्थ क्या है?

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी) മലയാളം (मलयालम)

पिरगमुन को पेरगामम (प्रकाशितवाक्य 2:12) के रूप में भी जाना जाता है। यह शहर दो शताब्दियों तक एशिया के रोमी प्रांत की राजधानी रहा था। राजा एटलस III, ने इसे  पिरगमुन के साम्राज्य के साथ, रोम को 133 ई.पू. में दे दिया। प्रारंभिक तीसरी शताब्दी ई.पू. से पिरगमुन का शहर यूनानी मत की दुनिया के सांस्कृतिक और बौद्धिक जीवन का केंद्र था।

पिरगमुन का अर्थ

पिरगमुन नाम का अर्थ स्पष्ट नहीं है, लेकिन “गढ़,” या “किला” इसके व्युत्पन्न अर्थों में से एक है। 29  ई.पू. में पिरगमुन एक जीवित रोमन सम्राट के पहले धर्म-संप्रदाय का स्थल बन गया था। वहां एक मंदिर बनाया गया था जो देवी रोमा (साम्राज्य की भावना का एक प्रतीक) और सम्राट ऑगस्टस की संयुक्त पूजा को समर्पित था।

सात में से एक

पिरगमुन उन सात कलीसियाओं में से एक था, जिनके बारे में यूहन्ना ने प्रकाशितवाक्य 2:12-17 में लिखा था। उसी समय यूहन्ना ने पिरगमुन की कलीसिया को अपना संदेश लिखा, सच्चे विश्वासियों ने सम्राट डोमिटियन (ईस्वी 81-96) की पूजा करने से इनकार करने के लिए सताहट झेल रहे थे, जिसने “प्रभु और देवता” के रूप में पूजा जाने की इच्छा थी। इस प्रकार, एक स्थान के रूप में इसका अर्थ  “जहां शैतान की गद्दी है” सत्य है (पद 13)।

इतिहास

कलिसिया के इतिहास का पिरगमुन का काल कॉन्स्टेंटाइन के मसिहियत् में परिवर्तन का समय 323 या 325 में शुरू हुआ और 538 मे समाप्त हुआ । कॉन्स्टेंटाइन ने अपने साम्राज्य के भीतर विविध तत्वों को एकजुट करने के लिए शक्ति और स्थिरता के लिये यथासंभव कई तथ्यो में मुर्तिपुजा और मसिहियत को मिलाने की कोशिश की।

यह इस समय के दौरान था कि पश्चिमी यूरोप में धार्मिक और राजनीतिक नेतृत्व में पोप्तन्त्र ने जीत हासिल की, इस प्रकार शैतान ने कलीसिया के भीतर अपने “स्थान” की पुष्टि की। इस युग को लोकप्रियता का युग कहा जा सकता है। कलीसिया की समृद्ध स्थिति ने इसे उन प्रलोभनों में डाल दिया जो आसानी और लोकप्रियता के साथ आते हैं जो अंततः विश्वास के भ्रष्टाचार का कारण बने।

विश्वासयोग्य लोगों के लिए जो कलीसिया में कट्टरता के संपर्क में थे, परमेश्वर ने यह संदेश भेजा “सो मन फिरा, नहीं तो मैं तेरे पास शीघ्र ही आकर, अपने मुख की तलवार से उन के साथ लडूंगा” (प्रकाशितवाक्य 2:16)।

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

 

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी) മലയാളം (मलयालम)

More answers: