नए नियम में लुदिया कौन थी?

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी)

लुदिया का दर्ज लेख प्रेरितों के काम अध्याय 16 की पुस्तक में पाया जाता है। लुदिया एशिया माइनर प्रांत के थुआतीरा शहर से थी। यह शहर अपने रंगाई कार्यों के लिए प्रसिद्ध था। जिले में मिले शिलालेखों से पता चलता है कि थुआतीरा में बैंगनी रंग के रंगरूटों का एक समूह था। बाइबल हमें बताती है कि लुदिया के पास वह व्यवसाय था क्योंकि वह बैंगनी रंग के कपड़े की एक विक्रेता थी (लूका 16:19) अपने स्वयं के व्यवसाय का प्रबंधन करती थी, और संभवत: कुछ सार की महिला थी।

प्रभु ने अपने महान प्रावधान में पौलुस को एजियन सागर और मकिदुनिया में पश्चिम जाने के लिए एक दर्शन में बुलाया (प्रेरितों के काम 16:6-10) और लुदिया और उसके परिवार को पौलुस से मिलने और उसकी दूसरी मिशनरी यात्रा पर सच्चाई सुनने के लिए नेतृत्व किया। हो सकता है कि ये मत अपनाने वाले भी रहे हों (प्रेरितों के काम 10:2)। इनके लिए, यहूदी धर्म उन्हें मसीह की ओर ले जाने वाला एक “विद्यालय शिक्षक” था (गला० 3:24)। इस समूह ने पौलुस द्वारा स्थापित यूरोप में पहला मसीही कलीसिया बनाया। बाइबल हमें बताती है:

बाइबल का अभिलेख कहता है, “सो त्रोआस से जहाज खोलकर हम सीधे सुमात्राके और दूसरे दिन नियापुलिस में आए। वहां से हम फिलिप्पी में पहुंचे, जो मकिदुनिया प्रान्त का मुख्य नगर, और रोमियों की बस्ती है; और हम उस नगर में कुछ दिन तक रहे। सब्त के दिन हम नगर के फाटक के बाहर नदी के किनारे यह समझकर गए, कि वहां प्रार्थना करने का स्थान होगा; और बैठकर उन स्त्रियों से जो इकट्ठी हुई थीं, बातें करने लगे। और लुदिया नाम थुआथीरा नगर की बैंजनी कपड़े बेचने वाली एक भक्त स्त्री सुनती थी, और प्रभु ने उसका मन खोला, ताकि पौलुस की बातों पर चित्त लगाए। और जब उस ने अपने घराने समेत बपतिस्मा लिया, तो उस ने बिनती की, कि यदि तुम मुझे प्रभु की विश्वासिनी समझते हो, तो चलकर मेरे घर में रहो; और वह हमें मनाकर ले गई॥” (प्रेरितों के काम 16:11-15)।

प्रभु ने लुदिया का हृदय खोल दिया और उसने अपने परिवार के साथ उस संदेश को स्वीकार किया और बपतिस्मा लिया। लुदिया उन शिक्षकों को बनाए रखने के लिए उत्सुक थी जिनके पाठों ने उन्हें हाल ही में खुले दिल के लिए बहुत मददगार पाया, इसलिए, उन्होंने उन लोगों को अथिति-सत्कार दिखाया जो खुशखबरी लाए थे।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी)

More answers: