क्या हमें आधुनिक समय के भविष्यद्वक्ता पर विश्वास करना चाहिए?

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी)

बाइबल स्पष्ट रूप से बताती है कि समय के अंत तक भविष्यद्वक्ता होंगे:

(क) भविष्यद्वाणी का उपहार युगों से परमेश्वर के चर्च में प्रकट किया जाएगा “और उस ने कितनों को भविष्यद्वक्ता नियुक्त करके और कितनों को सुसमाचार सुनाने वाले नियुक्त करके, और कितनों को रखवाले और उपदेशक नियुक्त करके दे दिया। जब तक कि हम सब के सब विश्वास, और परमेश्वर के पुत्र की पहिचान में एक न हो जाएं, और एक सिद्ध मनुष्य न बन जाएं और मसीह के पूरे डील डौल तक न बढ़ जाएं” (इफिसियों 4:11,13)।

(ख) यीशु का अंत समय चर्च के पास विशेष रूप से भविष्यद्वाणी का उपहार होगा “और अजगर स्त्री पर क्रोधित हुआ, और उसकी शेष सन्तान से जो परमेश्वर की आज्ञाओं को मानते, और यीशु की गवाही देने पर स्थिर हैं, लड़ने को गया। और वह समुद्र के बालू पर जा खड़ा हुआ। और मैं उस को दण्डवत करने के लिये उसके पांवों पर गिरा; उस ने मुझ से कहा; देख, ऐसा मत कर, मैं तेरा और तेरे भाइयों का संगी दास हूं, जो यीशु की गवाही देने पर स्थिर हैं, परमेश्वर ही को दण्डवत् कर; क्योंकि यीशु की गवाही भविष्यद्वाणी की आत्मा है। और उस ने मुझ से कहा, देख, ऐसा मत कर; क्योंकि मैं तेरा और तेरे भाई भविष्यद्वक्ताओं और इस पुस्तक की बातों के मानने वालों का संगी दास हूं; परमेश्वर ही को दण्डवत कर” (प्रकाशितवाक्य 12:17; 19:10; 22: 9)।

(ग) एक सच्चे नबी की सलाह को अस्वीकार करना परमेश्वर की सलाह को अस्वीकार करना है “मैं तुम से कहता हूं, कि जो स्त्रियों से जन्मे हैं, उन में से यूहन्ना से बड़ा कोई नहीं: पर जो परमेश्वर के राज्य में छोटे से छोटा है, वह उस से भी बड़ा है। और सब साधारण लोगों ने सुनकर और चुंगी लेने वालों ने भी यूहन्ना का बपतिस्मा लेकर परमेश्वर को सच्चा मान लिया। पर फरीसियों और व्यवस्थापकों ने उस से बपतिस्मा न लेकर परमेश्वर की मनसा को अपने विषय में टाल दिया” (लूका 7: 28-30)।

(घ) हमें नबियों की जांच करने और उनकी सलाह का अनुसरण करने की आज्ञा दी जाती है यदि वे बोलते हैं और बाइबल के साथ सामंजस्य में जीते हैं “भविष्यद्वाणियों को तुच्छ न जानो। सब बातों को परखो: जो अच्छी है उसे पकड़े रहो” (1 थिस्सलुनीकियों 5:20, 21)।

बाइबल सिखाती है कि अंत समय में सच्चे नबी होंगे। सच्चे भविष्यद्वक्ता सदैव बाइबल के साथ ससमंजस्य से बात करेंगे। परमेश्वर के वचन का खंडन करने वाले “भविष्यद्वक्ता” झूठे हैं और उन्हें अस्वीकार कर दिया जाना चाहिए। लेकिन यह विश्वासियों का कर्तव्य है कि परमेश्वर के वचन द्वारा भविष्यद्वक्ताओं की जांच करना “व्यवस्था और चितौनी ही की चर्चा किया करो! यदि वे लोग इस वचनों के अनुसार न बोलें तो निश्चय उनके लिये पौ न फटेगी” (यशायाह 8:20)।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी)

More answers: