क्या हज़ार वर्ष का शासनकाल स्वर्ग या पृथ्वी में होगा?

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी) العربية (अरबी)

बाइबल स्पष्ट है कि छुड़ाए जाने वाले लोग हजार वर्ष या सहस्राब्दी के दौरान धरती पर नहीं बल्कि स्वर्ग में रहने वाले हैं। आइए बाइबल के सबूतों पर नज़र डालें:

सबसे पहले, 1 थिस्सलुनीकियों 4:16-18 में, हम पढ़ते हैं कि पवित्र लोगों को हवा में प्रभु से मिलने के लिए उठाया जाएगा या पकड़ा जाएगा: “क्योंकि प्रभु आप ही स्वर्ग से उतरेगा; उस समय ललकार, और प्रधान दूत का शब्द सुनाई देगा, और परमेश्वर की तुरही फूंकी जाएगी, और जो मसीह में मरे हैं, वे पहिले जी उठेंगे। तब हम जो जीवित और बचे रहेंगे, उन के साथ बादलों पर उठा लिए जाएंगे, कि हवा में प्रभु से मिलें, और इस रीति से हम सदा प्रभु के साथ रहेंगे। सो इन बातों से एक दूसरे को शान्ति दिया करो॥”

यीशु ने उनसे वादा किया, “मेरे पिता के घर में बहुत से रहने के स्थान हैं, यदि न होते, तो मैं तुम से कह देता क्योंकि मैं तुम्हारे लिये जगह तैयार करने जाता हूं। और यदि मैं जाकर तुम्हारे लिये जगह तैयार करूं, तो फिर आकर तुम्हें अपने यहां ले जाऊंगा, कि जहां मैं रहूं वहां तुम भी रहो” (यूहन्ना 14:2,3)। यीशु सबसे पहले छुड़ाए हुओं को स्वर्ग में बने घर ले जाएगा। और मसीह के आने की चमक से जीवित दुष्टों का नाश होगा (लूका 17:26-30; 2 थिस्सलुनीकियों 2: 8)। हजार वर्षों के बाद, प्रभु हमेशा के लिए इसे बसाने के लिए बावहाये हुओं को धरती पर ले आएगा।

यहाँ घटनाओं का क्रम है जो तब होता है जब यीशु फिर से आता है जैसा प्रकाशितवाक्य 20 में दिखाया गया है:

1 फिर मै ने एक स्वर्गदूत को स्वर्ग से उतरते देखा; जिस के हाथ में अथाह कुंड की कुंजी, और एक बड़ी जंजीर थी।

2 और उस ने उस अजगर, अर्थात पुराने सांप को, जो इब्लीस और शैतान है; पकड़ के हजार वर्ष के लिये बान्ध दिया।

3 और उसे अथाह कुंड में डाल कर बन्द कर दिया और उस पर मुहर कर दी, कि वह हजार वर्ष के पूरे होने तक जाति जाति के लोगों को फिर न भरमाए; इस के बाद अवश्य है, कि थोड़ी देर के लिये फिर खोला जाए॥

4 फिर मैं ने सिंहासन देखे, और उन पर लोग बैठ गए, और उन को न्याय करने का अधिकार दिया गया; और उन की आत्माओं को भी देखा, जिन के सिर यीशु की गवाही देने और परमेश्वर के वचन के कारण काटे गए थे; और जिन्हों ने न उस पशु की, और न उस की मूरत की पूजा की थी, और न उस की छाप अपने माथे और हाथों पर ली थी; वे जीवित हो कर मसीह के साथ हजार वर्ष तक राज्य करते रहे।

5 और जब तक ये हजार वर्ष पूरे न हुए तक तक शेष मरे हुए न जी उठे; यह तो पहिला मृत्कोत्थान है।

6 धन्य और पवित्र वह है, जो इस पहिले पुनरुत्थान का भागी है, ऐसों पर दूसरी मृत्यु का कुछ भी अधिकार नहीं, पर वे परमेश्वर और मसीह के याजक होंगे, और उसके साथ हजार वर्ष तक राज्य करेंगे॥

7 और जब हजार वर्ष पूरे हो चुकेंगे; तो शैतान कैद से छोड़ दिया जाएगा।

8 और उन जातियों को जो पृथ्वी के चारों ओर होंगी, अर्थात गोग और मगोग को जिन की गिनती समुद्र की बालू के बराबर होगी, भरमा कर लड़ाई के लिये इकट्ठे करने को निकलेगा।

9 और वे सारी पृथ्वी पर फैल जाएंगी; और पवित्र लोगों की छावनी और प्रिय नगर को घेर लेंगी: और आग स्वर्ग से उतर कर उन्हें भस्म करेगी।

प्रकाशितवाक्य 21:1-3 में, हम पढ़ते हैं, “फिर मैं ने पवित्र नगर नये यरूशलेम को स्वर्ग पर से परमेश्वर के पास से उतरते देखा” लेकिन प्रकाशितवाक्य 20 में, यह कहता है कि बचाए हुए उसके साथ रह रहे हैं और शासन कर रहे हैं। इसलिए, अगर नया येरुशलेम वह जगह है जहां हमारा घर हैं, और यह धरती पर नहीं उतरा है, तो हज़ार वर्ष के दौरान बचाए हुए कहाँ होंगे? स्वर्ग में।

संक्षेप में: हजार वर्षों के दौरान, शैतान बांधा जाता है (प्रकाशितवाक्य 20:2) क्योंकि सभी दुष्ट मर चुके हैं। उसके पास लुभाने के लिए कोई नहीं है। बचाए हुए मसीह के साथ स्वर्ग में होंगे, जब तक कि हजार साल का अंत न हो जाए (प्रकाशितवाक्य 20:4)। उस समय के दौरान, संतों को दुष्टों के फैसले को देखने का मौका दिया जाएगा ताकि वे दुष्टों को नष्ट करने से पहले परमेश्वर के न्याय को देख सकें (प्रकाशितवाक्य 20:4)। फिर, बचाए हुए यीशु और नये येरूशलेम के साथ पृथ्वी पर उतरेगा। दुष्टों को फिर से ज़िंदा किया जाएगा और नए शहर के खिलाफ युद्ध करने के लिए (प्रकाशितवाक्य 20:7) शैतान के साथ शामिल हो जाएंगे। लेकिन परमेश्वर की आग स्वर्ग से नीचे आ जाएगी और सभी को भस्म करेगी (प्रकाशितवाक्य 20:9)। उनके विनाश के बाद, परमेश्वर पृथ्वी को नए सिरे से बनाएंगे और पवित्र लोग वहां हमेशा के लिए रहेंगे।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी) العربية (अरबी)

More answers: