क्या सांता और शैतान के बीच एक संपर्क है?

This page is also available in: English (English)

अंग्रेजी भाषा मे यदि सांता (SANTA) शब्द जब इसे पुन:व्यवस्थित किया जाए, तो यह S-A-T-A-N होता है। सांता एक लैटिन शब्द है जिसका अर्थ है “संत” या “पवित्र।” शैतान, दूसरी ओर, यह एक इब्रानी शब्द है जिसका अर्थ है “विरोधी” या “दोष लगाने वाला।”

सांता की उत्पत्ति

सांता एक मूर्तिपूजक मिथक है जिसमें कुछ घिसी-पिटी पुरानी ईसाई परंपराएं हैं। सांता क्लॉज़ एक काल्पनिक व्यक्ति हैं, उसकी रचना एक ईसाई व्यक्ति पर आधारित है जिसका नाम मायरा का संत निकोलस था, जो चौथी शताब्दी में रहता था। निकोलस का जन्म ईसाई माता-पिता से हुआ था, जिनकी मृत्यु होने पर उसे विरासत छोड़ी थी, जिसे उसने गरीबों को वितरित किया। वह कम उम्र में पादरी बन गया। निकोलस का निधन 6 दिसंबर को किसी समय 340 या 350 ईस्वी के आसपास हुआ था, और उसकी मृत्यु का दिन एक वार्षिक पर्व बन गया।

सांता एक ऐसा चरित्र है, जिसे सर्वशक्तिमान, सर्वव्यापी और सर्वज्ञानी होने की शक्तियाँ दी जाती हैं, जो कि ईश्वर (यीशु मसीह) के प्रति निन्दा है, वह ही केवल ऐसे ईश्वरीय गुणों के अधिकारी हैं।

कुछ माता-पिता अपने बच्चों को सांता की कहानी से परिचित कराते हैं, यह जानते हुए कि यह सच नहीं है, बल्कि परंपरा के लिए है। मसीही के रूप में हम झूठ नहीं बोलने के लिए प्रेरित होते हैं। बाइबल कहती है कि एक वफादार गवाह झूठ नहीं बोलेगा (नीतिवचन 14: 5), प्रेरित पौलुस ने कुलुस्सियों को लिखा, “एक दूसरे से झूठ मत बोलो” (कुलुस्सियों 3: 9)। बाइबल के विद्यार्थी जानते हैं कि शैतान, प्रभु यीशु मसीह का सबसे बड़ा प्रतिरूप है, इसलिए यह केवल शैतान के उसके कार्य को उस सांता चरित्र को बनाने के लिए और यीशु को प्रतिस्थापित करने के लिए है।

मसीह के जन्म का जश्न मनाने का ध्यान उस व्यक्ति पर होना चाहिए जिसने बलिदान दिया और अपना जीवन हमें बचाने के लिए दिया (यूहन्ना 3:16)। लालच, और भौतिकवाद जो कि सांता की कहानी के साथ जुड़ा हुआ है, ने मसीह के जन्म के अर्थ को ढाँप दिया है। इसलिए, मसीहियों को झूठे देवताओं से छुटकारा पाने और दुनिया से अलग होने और धोखे में बच्चों की मदद करने की थोड़ी सी संभावना से बचना चाहिए।

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

This page is also available in: English (English)

You May Also Like

जगत में पाप की उत्पत्ति कैसे हुई?

This page is also available in: English (English)अहंकार वह पाप था जिसे लूसिफ़र, परमेश्वर का अत्यधिक महान स्वर्गदूत (यहेजकेल 28:14), अपने दिल में आश्रय दिया था। उसके पतन से पहले,…
View Post

प्राचीन शहर कैसरिया की प्रारंभिक कलीसिया का क्या महत्व है?

This page is also available in: English (English)कैसरिया का प्राचीन शहर सोर से मिस्र के रास्ते पर स्थित था। यह रोमन काल से है। यह बाद में रोमन यहूदिया, रोमन…
View Post