क्या विवाह से पहले एस्तेर का राजा के साथ कोई संबंध था?

Author: BibleAsk Hindi


प्रश्न: क्या एस्तेर का राजा से विवाह करने से पहले उसके साथ घनिष्ठ संबंध था?

उत्तर: जब फारस के राजा क्षयर्ष (क्षयर्ष) ने अपनी पत्नी रानी वशती को विदा किया। वह एक नई रानी की तलाश करना चाहता था। इसलिये राजा ने अपने राज्य के सब प्रान्तों में हाकिमों को नियुक्त किया, कि वे सब सुन्दर जवान कुंवारियों को शूशन नगर में इकट्ठा करें। और उस ने आदेश दिया, कि कुवांरियों को, राजा के खोजे या स्त्रियों के रखवाले हेगे के पास भेज दिया जाए।

राजा ने यह भी आदेश दिया कि वे उसके सामने पेश होने से पहले तैयारी कर लें। और यह होगा कि तैयारी के बाद जो युवती उस पर कृपा करेगी, वही रानी वशती के स्थान पर चुनी जाएगी (एस्तेर 2:1-4)।

खोजे हेगे के नेतृत्व में सुंदर कुंवारियों को एक वर्ष की तैयारी से गुजरना पड़ा। उस वर्ष के अंत में, प्रत्येक कुँवारी राजा के साथ एक रात बिताती थी और फिर शाशगज़ (एस्तेर 2:13-14) के अधीन रखेलियों के घर में चली जाती थी।

तब एस्तेर को राजा क्षयर्ष के पास उसके राजभवन में ले जाया गया। और राजा ने एस्तेर को और सब स्त्रियों से अधिक प्रेम किया, और उस ने सब कुंवारियों से अधिक उसकी दृष्टि में अनुग्रह और कृपा पाई; तब उसने उसके सिर पर राजमुकुट रखा, और उसे वशती के स्थान पर रानी बनाया। और राजा ने अपके सब हाकिमों और कर्मचारियों के लिये एस्तेर के पर्व की बड़ी जेवनार की; और उस ने प्रान्तों में छुट्‌टी की घोषणा की, और राजा की उदारता के अनुसार भेंट दी (एस्तेर 2:16-18)।

कुछ आश्चर्य की बात है कि एस्तेर ने राजा से विवाह करने से पहले उसके साथ घनिष्ठ संबंध रखा था?

एस्तेर की किताब के दूसरे अध्याय का अर्थ है कि वह राजा के साथ घनिष्ठ थी और यह यहूदी विश्वास के लिए पूरी तरह से स्वीकार्य था क्योंकि वह पहले से ही राजा के हरम का हिस्सा थी। हरम में प्रवेश करने वाली कोई भी लड़की किसी अन्य पुरुष के लिए कभी नहीं होगी। और भले ही वह रानी के रूप में नहीं चुनी गई हो, वह अपने जीवन के अंत तक राजा के हरम का हिस्सा बनी रहेगी।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

Leave a Comment