क्या यहेजकेल 16 आभूषण पहनने का समर्थन नहीं करता है?

Author: BibleAsk Hindi


“तब मैं ने तेरा श्रृंगार किया, और तेरे हाथों में चूडिय़ां और गले में तोड़ा पहिनाया। फिर मैं ने तेरी नाक में नत्थ और तेरे कानों में बालियां पहिनाईं, और तेरे सिर पर शोभायमान मुकुट धरा। तेरे आभूषण सोने चान्दी के और तेरे वस्त्र सूक्ष्म सन, रेशम और बूटेदार कपड़े के बने; फिर तेरा भोजन मैदा, मधु और तेल हुआ; और तू अत्यन्त सुन्दर, वरन रानी होने के योग्य हो गई” (यहेजकेल 16: 11-13)।

कुछ लोग पूछते हैं कि क्या इस पद्यांश में आज इस तरह की विलासिता में लिप्तता को मंजूरी मिलनी चाहिए, क्योंकि क्या यह स्वयं ईश्वर नहीं था जो इस दासी को इस तरह सजाता था?

यहाँ विषय आभूषण नहीं है। यह घटना रूपकात्मक भाषा है जो परमेश्वर को उसके बच्चों को गुलामी से छुड़ाने का प्रतीक है और उन पर उद्धार के कई लाभ हैं। जब मिस्रियों ने आभूषण मिस्र के छोड़ने वाले इस्राएलियों को दिया था (निर्गमन 11: 2,3), तो इस्राएलियों ने ख़ुशी से जंगल में सुंदर पवित्रस्थान का निर्माण करने के लिए हर्षित उपहार के रूप में दिया जो कि प्रभु ने उनके लिए किया है (निर्गमन 25: 1) -8)।

पुराने नियम में, बाइबल इस्राएलियों के बारे में बात करती है कि वे प्रभु के सामने आने से पहले अपने आभूषण भी उतार दें  “यह बुरा समाचार सुनकर वे लोग विलाप करने लगे; और कोई अपने गहने पहिने हुए न रहा। क्योंकि यहोवा ने मूसा से कह दिया था, कि इस्त्राएलियों को मेरा यह वचन सुना, कि तुम लोग तो हठीले हो; जो मैं पल भर के लिये तुम्हारे बीच हो कर चलूं, तो तुम्हारा अन्त कर डालूंगा। इसलिये अब अपने अपने गहने अपने अंगों से उतार दो, कि मैं जानूं कि तुम्हारे साथ क्या करना चाहिए। तब इस्त्राएली होरेब पर्वत से ले कर आगे को अपने गहने उतारे रहे” (निर्गमन 33: 4-6)।

और नए नियम में, मसीही स्त्रियों के लिए आभूषण और असाधारण पोशाक भी “उसी तरह से” खिलाफ बात की जाती है, जो स्त्रियाँ मामूली वस्त्र में खुद को सुशोभित और संयम से सजाती हैं, गूँथे हुए बाल या सोने या मोती या महंगे वस्त्रों के साथ नहीं (1 तीमुथियुस 2: 9, 10); “और तुम्हारा सिंगार, दिखावटी न हो, अर्थात बाल गूंथने, और सोने के गहने, या भांति भांति के कपड़े पहिनना। वरन तुम्हारा छिपा हुआ और गुप्त मनुष्यत्व, नम्रता और मन की दीनता की अविनाशी सजावट से सुसज्ज़ित रहे, क्योंकि परमेश्वर की दृष्टि में इसका मूल्य बड़ा है।”(1 पतरस 3:3,4)। प्रभु अपनी बेटियों को आत्मा के फल से सुशोभित करने की इच्छा रखते हैं।

विभिन्न विषयों पर अधिक जानकारी के लिए हमारे बाइबल उत्तर पृष्ठ देखें।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

Leave a Comment