क्या माता-पिता को विदेशी मिशन कार्यों में पैसा भेजने के बजाय अपने बच्चों का समर्थन नहीं करना चाहिए?

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी)

माता-पिता को वास्तव में अपने बच्चों के लिए समर्थन और देखभाल करनी चाहिए और उनकी आवश्यकताओं के लिए प्रदान करना चाहिए। परमेश्वर ने कहा कि प्रत्येक परिवार अपनी देखभाल करनी है “पर यदि कोई अपनों की और निज करके अपने घराने की चिन्ता न करे, तो वह विश्वास से मुकर गया है, और अविश्वासी से भी बुरा बन गया है” (1 तीमुथियुस 5: 8)। हमारे बच्चों की कोमलता से देखभाल करने से ज्यादा खुशी की कोई बात नहीं है। हमें अपने बच्चों को उसी तरह के प्यार करने और उसका समर्थन करने की ज़रूरत है जो परमेश्वर हमसे प्यार करते हैं (यूहन्ना 15:12)।

लेकिन, माता-पिता की ओर से अपनी संतानों की देखभाल की तुलना में बहुत बड़ी जिम्मेदारी और जवाबदेही है। दुनिया में सबसे बड़ी समस्या पैसे का लालच और प्यार है। और बाइबल में दानशीलता और उदारता के बारे में कहने के लिए बहुत कुछ है। बाइबल में कुछ सबसे आश्चर्यजनक वादे उन लोगों से किए गए हैं जो मसीह के कारण बलिदान देते हैं “दिया करो, तो तुम्हें भी दिया जाएगा: लोग पूरा नाप दबा दबाकर और हिला हिलाकर और उभरता हुआ तुम्हारी गोद में डालेंगे, क्योंकि जिस नाप से तुम नापते हो, उसी से तुम्हारे लिये भी नापा जाएगा” (लूका 6:38)।

मसीह के पास संपत्ति रखने के बारे में कहने के लिए और उनके कई दृष्टांत स्वामित्व के विचार के इर्द-गिर्द घूमते थे और जो अपनी संपत्ति के साथ करता है (मत्ती 25: 14-30; लूका 12: 42-46; 16:11)।

गैर-मसीही देशों में, लोग इस तरह के प्रकाश और उद्धार को देखने के लिए तरस रहे हैं जो मसीही सुसमाचार के माध्यम से आता है। यही कारण है कि हमें अपने धन के साथ उन मिशनों कार्यों का समर्थन करना चाहिए जो उस सुसमाचार को उनके पास ले जाते हैं। इस प्रकार यीशु की आज्ञा को पूरा करते हुए, “इसलिये तुम जाकर सब जातियों के लोगों को चेला बनाओ और उन्हें पिता और पुत्र और पवित्रआत्मा के नाम से बपतिस्मा दो।” जो लोग व्यक्तिगत रूप से कार्य करने के लिए स्वयं नहीं जा सकते हैं, उन्हें निश्चित रूप से अपने भौतिक संसाधनों का बलिदान करने के लिए तैयार होना चाहिए ताकि अन्य लोग कार्य को पूरा कर सकें।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी)

More answers: