उत्पत्ति और प्रकाशितवाक्य में नदियाँ कहाँ हैं?

Total
0
Shares

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी)

उत्पत्ति की नदियाँ

उत्पत्ति 2:10-14 में मूल नदियों के सन्दर्भ की व्याख्या करने के प्रयास में बहुत अधिक विद्वतापूर्ण शोध किया गया है:

“10 और उस वाटिका को सींचने के लिये एक महानदी अदन से निकली और वहां से आगे बहकर चार धारा में हो गई।

11 पहिली धारा का नाम पीशोन है, यह वही है जो हवीला नाम के सारे देश को जहां सोना मिलता है घेरे हुए है।

12 उस देश का सोना चोखा होता है, वहां मोती और सुलैमानी पत्थर भी मिलते हैं।

13 और दूसरी नदी का नाम गीहोन है, यह वही है जो कूश के सारे देश को घेरे हुए है।

14 और तीसरी नदी का नाम हिद्देकेल है, यह वही है जो अश्शूर के पूर्व की ओर बहती है। और चौथी नदी का नाम फरात है।”

उनके स्थान के लिए एक उचित स्पष्टीकरण शायद कभी नहीं मिलेगा, क्योंकि बाढ़ के बाद की पृथ्वी की स्थलाकृति पहले जैसी नहीं थी।

बाढ़ जैसी महानता की एक आपदा जिसके कारण पर्वत पर्वत श्रृंखलाओं का निर्माण कर सकते हैं और समुद्र के विशाल क्षेत्रों का निर्माण कर सकते हैं, शायद ही ऐसी कम सतह की विशेषताओं को छोड़ सकते हैं जैसे कि नदियाँ अपरिवर्तित रहती हैं। इन कारणों से, बाइबल के विद्वान पृथ्वी की वर्तमान सतह की विशेषताओं के साथ बाढ़-पूर्व लोग भौगोलिक शब्दों की पहचान नहीं कर सकते हैं।

प्रकाशितवाक्य की नदी

प्रकाशितवाक्य में वर्णित नदी नए यरूशलेम में मिलेगी – वह शहर जिसे परमेश्वर ने छुटकारा पाने के लिए तैयार किया है (यूहन्ना 14:1-3)। प्रकाशितवाक्य 22:1,2 में हम पढ़ते हैं:

“1 फिर उस ने मुझे बिल्लौर की सी झलकती हुई, जीवन के जल की एक नदी दिखाई, जो परमेश्वर और मेंम्ने के सिंहासन से निकल कर उस नगर की सड़क के बीचों बीच बहती थी।

2 और नदी के इस पार; और उस पार, जीवन का पेड़ था: उस में बारह प्रकार के फल लगते थे, और वह हर महीने फलता था; और उस पेड़ के पत्तों से जाति जाति के लोग चंगे होते थे।”

ऐसे प्रश्नों के अनंत उत्तर हैं जो आने वाले जीवन में परमेश्वर की सन्तानों के सामने प्रकट होंगे क्योंकि “जो बातें आँख ने नहीं देखी, और न कानों ने सुनीं, और न ही मनुष्य के हृदय में प्रवेश किया है, जो परमेश्वर ने अपने प्रेम रखने वालों के लिए तैयार की हैं” ( 1 कुरिन्थियों 2:9)। ऐसा सारा ज्ञान किसी भी चीज़ से परे है जिसे लोग यीशु के सुसमाचार के अलावा जान सकते हैं।

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी)

Subscribe to our Weekly Updates:

Get our latest answers straight to your inbox when you subscribe here.

You May Also Like

नए नियम में शिमोन भक्त कौन था?

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी)शिमोन एक वृद्ध व्यक्ति था (लूका 2:25-29) जिसे आश्वासन दिया गया था कि वह मसीहा को देखने के लिए जीवित रहेगा। वह परमेश्वर…

अप्रमाणिक (एपोक्रिफा) पुस्तकें क्या हैं?

This post is also available in: English (अंग्रेज़ी)अप्रमाणिक (एपोक्रिफा) पुस्तकें क्या हैं? रोमन कैथोलिक बाइबल में पुराने नियम की पुस्तकें हैं जो प्रोटेस्टेंट बाइबिल में नहीं पाई जाती हैं। इन…