आज के चर्चों में हम परमेश्वर के राज्य के बारे में शायद ही कभी क्यों सुनते हैं, जबकि यीशु ने इसे व्यापक रूप से सिखाया था?

Total
0
Shares

आज के चर्चों में हम परमेश्वर के राज्य के बारे में शायद ही कभी क्यों सुनते हैं, जबकि यीशु ने इसे व्यापक रूप से सिखाया था?

https://bibleask.org/bible-answers/49-the-gospel-of-the-kingdom/

राज्य का सुसमाचार

  1. यीशु ने किस सुसमाचार का प्रचार किया?

“और यीशु सारे गलील में फिरता हुआ उन की सभाओं में उपदेश करता और राज्य का सुसमाचार प्रचार करता, और लोगों की हर प्रकार की बीमारी और दुर्बल्ता को दूर करता रहा” मत्ती 4:23.

  1. उसने कितने विस्तार से कहा कि इसका प्रचार किया जाना चाहिए?

“और राज्य का यह सुसमाचार सारे जगत में प्रचार किया जाएगा, कि सब जातियों पर गवाही हो, तब अन्त आ जाएगा” मत्ती 24:14।

  1. क्या दिखाता है कि यह हमेशा परमेश्वर का उद्देश्य रहा है कि सारी दुनिया को सुसमाचार सुनना चाहिए?

“यहोवा ने अब्राम से कहा, अपने देश, और अपनी जन्मभूमि, और अपने पिता के घर को छोड़कर उस देश में चला जा जो मैं तुझे दिखाऊंगा। और मैं तुझ से एक बड़ी जाति बनाऊंगा, और तुझे आशीष दूंगा, और तेरा नाम बड़ा करूंगा, और तू आशीष का मूल होगा। और जो तुझे आशीर्वाद दें, उन्हें मैं आशीष दूंगा; और जो तुझे कोसे, उसे मैं शाप दूंगा; और भूमण्डल के सारे कुल तेरे द्वारा आशीष पाएंगे” उत्पति 12:1-3.

“और पवित्र शास्त्र ने पहिले ही से यह जान कर, कि परमेश्वर अन्यजातियों को विश्वास से धर्मी ठहराएगा, पहिले ही से इब्राहीम को यह सुसमाचार सुना दिया, कि तुझ में सब जातियां आशीष पाएंगी” गलातीयों 3:8.

  1. परमेश्वर ने इस्राएल को औपचारिकतावाद के विरुद्ध कैसे चेतावनी दी?

“और प्रभु ने कहा, ये लोग जो मुंह से मेरा आदर करते हुए समीप आते परन्तु अपना मन मुझ से दूर रखते हैं, और जो केवल मनुष्यों की आज्ञा सुन सुनकर मेरा भय मानते हैं। इस कारण सुन, मैं इनके साथ अद्भुत काम वरन अति अद्भुत और अचम्भे का काम करूंगा; तब इनके बुद्धिमानों की बुद्धि नष्ट होगी, और इनके प्रवीणों की प्रवीणता जाती रहेगी” यशायाह 29:13,14।

  1. क्या दिखाता है कि उन्होंने हृदय सेवा को मंदिर की रीति सेवा के स्थान पर बदल दिया था?

“सेनाओं का यहोवा जो इस्राएल का परमेश्वर है, यों कहता है, अपनी अपनी चाल और काम सुधारो, तब मैं तुम को इस स्थान में बसे रहने दूंगा। तुम लोग यह कह कर झूठी बातों पर भरोसा मत रखो, कि यही यहोवा का मन्दिर है; यही यहोवा का मन्दिर, यहोवा का मन्दिर” यिर्मयाह 7:3,4

  1. परमेश्वर से अपने धर्मत्याग के द्वारा उन्होंने अपने ऊपर कौन-सी राष्ट्रीय आपदा लायी?

“इस प्रकार सब इस्राएली अपनी अपनी वंशावली के अनुसार, जो इस्राएल के राजाओं के वृत्तान्त की पुस्तक में लिखी हैं, गिने गए। और यहूदी अपने विश्वासघात के कारण बन्धुआई में बाबुल को पहुंचाए गए।” 1 इतिहास 9:1

 

परमेश्वर की सेवा में,
BibleAsk टीम

Subscribe to our Weekly Updates:

Get our latest answers straight to your inbox when you subscribe here.

You May Also Like

सहस्राब्दी (हजार वर्ष) के दौरान बचाए हुए स्वर्ग में या पृथ्वी पर होंगे?

बचाया हुआ पहले स्वर्ग में जाएंगे, और फिर वे सहस्राब्दी के बाद नये येरूशलेम में मसीह के साथ पृथ्वी पर आएंगे। यीशु ने वादा किया, “तुम्हारा मन व्याकुल न हो,…

प्रकाशितवाक्य 10:10 में छोटी पुस्तक क्या है?

वह छोटी पुस्तक जो यूहन्ना ने खा ली क्या थी (प्रकाशितवाक्य 10:10)? https://biblea.sk/2TqNg8o बाइबल के सैकड़ों सवालों के जवाब के लिए देखें: https://bibleask/hi.org। आप एक प्रश्न पूछ सकते हैं और…